National News

देश की ताजा (National Breaking News) और ब्रेकिंग खबरें (Breaking News) हिन्दी में पढ़ें। Read Latest and Breaking of National News in Hindi.

वाराणसी में संस्कृति संसद का हुआ आयोजन, देश दुनिया के बौद्धिक हुए सम्मिलित
National News

वाराणसी में संस्कृति संसद का हुआ आयोजन, देश दुनिया के बौद्धिक हुए सम्मिलित

हरिओम कुमार, वाराणसी। मुख्य बिन्दु- कैलाश से कन्याकुमारी तक के भारत का संकल्प पारित हिन्दू संस्कृति के आधार पर भारत पुनः अखण्ड होगा सनातन धर्म ऐसा धर्म है जो सभी को समेटने की क्षमता रखता है भारत संस्कृति के सहारे पुनः बन सकता है विश्वगुरु संस्कृति संसद 2021 का आयोजन रुद्राक्ष अंतरराष्ट्रीय सहयोग एवं सम्मेलन केंद्र, वाराणसी में किया गया। जिसमें देश दुनिया के बौद्धिक नेतृत्वकर्ताओं के साथ हजारों संस्कृति प्रेमियों ने भाग लिया। इस तीन दिवसीय संस्कृति संसद 2021 का आयोजन 12, 13 एवं 14 नवंबर को किया गया। संस्कृति संसद के उद्घाटन सत्र के अध्यक्ष एवं अखिल भारतीय संत समिति के मुख्य निदेशक स्वामी ज्ञानदेव सिंह ने कहा कि हिन्दू संस्कृति के आधार पर पुनः भारत अखण्ड होगा। उन्होंने कहा कि वेद भारतीय संस्कृति का मूल है तथा वेदों का मूल संस्कृति एवं संस्कृत है। माता ही हमारी प्रथम गु...
संस्कृति संसद 2021 के उपलक्ष्य में दो दिवसीय चित्रकला शिविर का किया गया उद्घाटन
National News

संस्कृति संसद 2021 के उपलक्ष्य में दो दिवसीय चित्रकला शिविर का किया गया उद्घाटन

हरिओम कुमार, वाराणसी। संस्कृति संसद 2021 के अवसर पर गंगा महासभा द्वारा दो दिवसीय चित्रकला शिविर का विधिवत उद्घाटन 10 नवंबर को ललितकला विभाग, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी में किया गया। "स्वतंत्रता के आंदोलन में काशी की भूमिका" विषयक चित्रकला शिविर का उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार ने किया। उद्घाटन कार्यक्रम में गंगा महासभा के राष्ट्रीय महामंत्री स्वामी जीतेन्द्रानंद सरस्वती एवं विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय मंत्री अशोक तिवारी भी उपस्थित रहे। उद्घाटन सत्र के दौरान इंद्रेश कुमार ने स्वत्रंता संग्राम के सेनानियों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि देते हुए आज़ादी के 75वें अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य में आयोजित हो रहे संस्कृति संसद की सराहना की तथा सफल आयोजन हेतु मंगलकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि भारत एक सर्वसमावेशी राष्ट्र है जहां सभी धर्म और जाति के...
स्पूतनिक वी वैक्सीन जुलाई से देश में ही बनेगा, वैक्सीनेशन होगी तेज
National News

स्पूतनिक वी वैक्सीन जुलाई से देश में ही बनेगा, वैक्सीनेशन होगी तेज

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के बीच लोग चाहते हैं कि उसे जल्द से जल्द टीका लगे। हाल में ही सरकार ने रूस की स्पूतनिक वी वैक्सीन को भी इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी दी थी। देश में फिलहाल टीके का उत्पादन कम है। भारत में अभी सिर्फ दो टीके कोविशील्ड और कोवैक्सीन ही लगाया जा रहा है। केंद्र सरकार आयातित स्पूतनिक वी वैक्सीन के टीके को भी जल्द कार्यक्रम में शामिल करने का प्रयास कर रही है। सरकार ने टीकाकरण के लिए मिशन कोविड सुरक्षा शुरू किया है। वहीं सरकार ने कोवैक्सीन का उत्पादन बढ़ाने के लिए निजी एवं सार्वजनिक क्षेत्र के क्षमतावान टीका निर्माताओं की पहचान की है। भारत बायोटैक की इस तकनीक को इन निर्माताओं को हस्तांतरित करने को लेकर बातचीत की प्रक्रिया चल रही है। जल्दी ही योग्य निर्माताओं को तकनीक दी जाएगी। इससे वैक्सीन के निर्माण में तेजी आएगी और ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन...
ऑक्सीजन की आपूर्ति पर हाईकोर्ट सख्त, कहा- उद्योगों को नहीं अस्पतालों को ऑक्सीजन की जरूरत है
National News

ऑक्सीजन की आपूर्ति पर हाईकोर्ट सख्त, कहा- उद्योगों को नहीं अस्पतालों को ऑक्सीजन की जरूरत है

नई दिल्ली। देश में कोरोना वायरस से बढ़ते मामलों के बीच अस्पतालों में ऑक्सीजन टैंकर की कमी होने लगी है। पिछले दिनों महाराष्ट्र में डॉ जाकिर हुसैन अस्पताल से ऑक्सीजन लीक होने से 22 मरीजों की मौत की दुखद खबर भी मिली। हालात की गंभीरता को देखते हुए दिल्ली हाईकोर्ट ने मैक्स हॉस्पिटल की याचिका पर सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार को निर्देश दिया है कि देशभर के अस्पतालों में आपूर्ति को सुनिश्चित किया जाए। हाईकोर्ट ने सख्त टिप्पणी करते हुए कहा कि तत्काल प्रभाव से औद्योगिक इकाइयों को दी जाने वाली ऑक्सीजन गैस की आपूर्ति को बंद किया जाए। हाईकोर्ट ने सभी उद्योगों से कहा है कि वह अपने उपयोग के लिए उत्पादित ऑक्सीजन इस संकट की घड़ी में केंद्र सरकार को दे और सरकार इसे जरूरत के हिसाब से सभी राज्यों के अस्पतालों को आपूर्ति करे। विपिन सांघी और रेखा पल्ली की पीठ ने केंद्र सरकार को उद्योगों से ऑक्सीजन लेकर ...
बंगाल की राजनीति और भाजपा – कुणाल राज की कलम से…
National News

बंगाल की राजनीति और भाजपा – कुणाल राज की कलम से…

आजादी के बाद पश्चिम बंगाल में कांग्रेस की सत्ता स्थापित हुई थी जिस दौरान पश्चिम बंगाल की जनता को भयंकर आकाल का सामना करना पड़ा था। 1977 के बाद से बंगाल में लगातार सत्ता परिवर्तन होता रहा है लेकिन जनता की स्थिति जस की तस बनी रही और कोई सरकार ने जनता के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया। तत्पश्चात वामपंथियों ने बंगाल की जनता को सस्ती और सुलभ ज़िंदगी की चाहत का झूठा वादा किया और अपनी सरकार बनाई जो 34 वर्षो तक बंगाल पर सत्ता काबिज रही। वामपंथियों की सरकार को ममता बनर्जी ने उखार फेंक और 20 मई 2011 को पहली बार बतौर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ग्रहण किया। पश्चिम बंगाल में जल्द ही विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं, लेकिन राज्य भर में चुनावी माहौल अभी से काफ़ी गर्म हो चुका है। जीत किसकी होगी ये कहना काफ़ी मुश्किल है, लेकिन इस समय केवल एक रुझान साफ़ है और वो ये कि इस चुनाव में भारतीय जनता प...