क्या नमक का दान होता है शुभ? जानिए नमक कब दान करना चाहिए?

नमक का दान करना बहुत ही शुभ माना गया है। लेकिन नमक का दान कब करना चाहिए, इसको लेकर लोगों को बहुत ही कम जानकारी है। कहा जाता है कि शाम के समय और रात से समय यदि कोई नमक मांगने आए तो उन्हें नमक नहीं देना चाहिए। ऐसा करने से जीवन में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है। 

क्या नमक का दान करना चाहिए?

नमक किसी को देना चाहिए या नहीं, इसको लेकर लोगों के बीच कई तरह की मान्यताएं प्रचलित है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, नमक भूलकर भी किसी को नहीं देना चाहिए। ऐसा करने से शनि की साढ़ेसाती का प्रकोप झेलना पड़ता है। जिस व्यक्ति के ऊपर शनि की साढ़ेसाती आती है, उन्हें जीवन में भारी कष्टों का सामना करना पड़ता है। 

नमक का दान कब करना चाहिए?

नमक का दान शुक्रवार को शुभ माना गया है। शुक्रवार को नमक के अलावा खीर और केसर का दान करना भी बहुत ही शुभ माना गया है। शुक्रवार के दिन माँ लक्ष्मी और माँ दुर्गा की पूजा की जाती है। नमक समुद्र से निलकता है और माँ लक्ष्मी भी समुद्र मंथन से निकली थीं। हिंदू धर्म में कहा गया है कि शुक्रवार को नमक दान करने से माता लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होती है। इससे घर में धन-वैभव में वृद्धि होती है। 

यह भी पढ़ें -   Sapne me Bagh Dekhna: सपने में बाघ देखना शुभ या अशुभ?

नमक कब नहीं देना चाहिए?

जब नमक देने की बात आती है तो यहां पर शुभ समय का विशेष ध्यान रखा जाता है। वास्तु शास्त्र के अनुसार, शाम के समय नमक का दान नहीं करना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि इससे नकारात्मक ऊर्जा प्रबल हो जाती है तथा व्यक्ति के तरक्की और बरकत में बाधा उत्पन्न करती है। यदि कोई व्यक्ति शाम या रात में किसी को नमक देता है तो उसके ऊपर कर्ज चढ़ता है।

यदि कोई परिवार का कोई सदस्य है खाना खाने वक्त नमक मांगता है तो उन्हें भी अपने हाथ से नमक नहीं देना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से जीवन में धन से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ता है। आर्थिक रूप से धीरे-धीरे आप कमजोर होने लगते हैं और आपके ऊपर कर्ज बढ़ने लगता है। 

यह भी पढ़ें -   कौवा को रोटी खिलाने के फायदे - जानिए क्यों कौवा को रोज खिलाना चाहिए रोटी?

नमक का दान क्यों किया जाता है?

नमक का दान करने से पितरों को खुशी मिलती है। नमक के इस प्रयोग से पितृदेव प्रसन्न होते हैं और घर में हमेशा सुख-शांति बनी रहती है। यदि किसी के ऊपर पितृदेव नाराज होते हैं तो ऐसे व्यक्ति को जीवन में कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। नमक दान करने से पितृदेव प्रसन्न होते हैं और इससे जीवन के कष्ट दूर होते हैं। इसलिए शुक्रवार को नमक का दान करना बहुत ही पुण्य कार्य माना गया है।

यह भी पढ़ें -   गुरुवार को बाल कटवाना, पोछा लगाना जैसे इन कामों से हो जाएंगे कंगाल, आज ही बंद कर दें

नमक किस दिन खरीदना चाहिए?

नमक खरीदने के लिए भी नियम बताए गए हैं। सप्ताह में शुक्रवार के दिन नमक खरीदना बहुत ही शुभ माना जाता है। ऐसा माना जाता है कि शुक्रवार का दिन माता लक्ष्मी का दिन होता है और माता लक्ष्मी समुद्र मंथन से प्रकट हुई थी। नमक भी समुद्र में ही पैदा होता है, इसलिए शुक्रवार के दिन नमक खरीदना शुभ होता है।

इसके अलावा शुक्रवार के दिन सफेद रंगों का प्रयोग करना और सफेद वस्तुओं का दान करना शुभ माना जाता है। शुक्रवार के दिन नमक खरीदने से घर में बरकत आती है। यदि गलती से भी हाथ से नमक जमीन पर गिर जाए तो अगले जन्म में इस नमक का कर्ज चुकाना पड़ता है। इसलिए इस बात का हमेशा ध्यान रखें कि नमक गलती से भी हाथ से ना गिरे।